सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

सबसे ज़्यादा पढ़ी गयी पोस्ट

सिलाई मशीन (SILAAI MACHINE) HINDI HORROR STORY

“ दीदी मैं बहुत मुसीबत में हूँ। मेरी सिलाई मशीन पता नहीं कहाँ चली गयी है। उसके बिना मैं काम कैसे करूँगा दीदी ? मेरी सिलाई मशीन ढूँढवा दो दीदी। ” राकेश रेणु के सामने गिड़गिड़ा रहा था।

क्या आपके साथ भी ऐसा होता है? (Kya Aapke Saath Bhi Aisa Hota Hai) HINDI HORROR












आज हम कुछ ऐसी चीजों के बारे में बात करेंगे, जिन्हें हम अक्सर अनदेखा कर देते हैं, लेकिन उनके पीछे ना जाने क्या छिपा होता है। यह घटनाएँ हम सबके साथ कभी ना कभी होती ही हैं लेकिन हम इस बारे में कभी ज़्यादा नहीं सोचते। 

तो, क्या आपके साथ भी ऐसा होता है ?


  • कभी कभी आपके आसपास का माहौल भारी हो जाता है

क्या आपके साथ कभी ऐसा हुआ है कि आप किसी सामान्य जगह पर बैठे हों, और तभी अचानक से उसी जगह का माहौल एकदम तनावग्रस्त लगने लगता है?

घर या किसी और जगह पर अचानक से क्लेष की स्थिति उत्पन्न हो जाती है।
और आप समझ नहीं पाते हैं कि अच्छे भले माहौल को यह अचानक हुआ क्या।

दरसल इसकी वजह कुछ लोग, आत्माओं के प्रभाव को बताते हैं। कई बार कुछ अवसादग्रस्त आत्माएँ हमारे आस पास आ जाती हैं, जिनके प्रभाव से हमारा मन और वातावरण एक अजीब से दुःख से भर जाता है। और फिर यही दुःख, लड़ाई या मन मतव की वजह बन जाता है।

तो ऐसे में, यदि आप खुद को ऐसे ही किसी हालात में पाएँ, तो अपने आपको समझाएँ और उस जगह से थोड़ी देर के लिए चले जाएँ। भरोसा रखिए, इस से काफ़ी फ़र्क़ पड़ेगा।

  • छोटे बच्चे अक्सर अपने आप से बातें करते हैं

कहा जाता है कि छोटे बच्चे इस दुनिया और उस दुनिया के बीच के पर्दे के पार देख सकते हैं। और यह विशेषता हम सब में होती है, लेकिन जैसे जैसे हम बड़े होते जाते हैं, वह पर्दा एक दीवार बनता जाता है और हमें उस पार की चीजें दिखनी बंद हो जाती हैं 

कई बच्चे अक्सर एक काल्पनिक दुनिया में खो जाते हैं, जहां उनके काल्पनिक दोस्त भी होते हैं, जिनकी बातें वो अपने माता पिता को बताते हैं। लेकिन हम बड़े लोग इन बातों को उनका बचपन मान कर हंसी में उड़ा देते हैं।

तो अगली बार अगर आप किसी छोटे बच्चे को अकेले में बात करते या हंसते देखें, तो इस बारे में ज़रूर सोचें।

  • कई बार आपको अचानक कोई अजीब गंध आने लगती है

कई बार ऐसा होता है कि आपका कमरा एक ऐसी गंध से भर जाता है जो वहां नहीं होनी चाहिए। यह गंध कभी बुरी तो कभी अछी भी हो सकती है, लेकिन कई बार एक ही गंध बार बार आपके आस पास से आने लगती है। 

ऐसा कहा जाता है की कुछ आत्माएँ अपने साथ एक गंध लेकर घूमती हैं, और वो जहां भी जाती हैं, उस जगह का वातावरण उस गंध से भर जाता है।

कहने के लिए, अच्छी गंध (ख़ुशबू/सुगंध) किसी अच्छी आत्मा का प्रतीक होती है, तथा बुरी गंध (बदबू/दुर्गंध) एक बुरी या दुखी आत्मा की। 




अब यह सब कितना सही है और कितना ग़लत, ये जानने का कोई तरीक़ा नहीं है, लेकिन अगली बार आप ऐसा कुछ भी देखें, या महसूस करें, तो इस बारे में ज़रूर सोचें।





KYA AAPKE SAATH BHI AISA HOTA HAI 

इस हफ़्ते की सबसे प्रसिद्ध कहानी